April 18, 2007

गुगल का यह है मस्‍त दफ्तर--फोटो
























कैलिफोर्निया में माउंटेनव्‍यू स्थि‍त दुनिया के मुख्‍य सर्च इंजन गुगल का दफ्तर। कभी भी कार्य और कभी भी सोना...दफ्तर ऐसा जैसे व्‍यक्तिगत जगह। कहीं भी सोना और आराम ताकि कार्य के लिए वापस तरोताजा। खेलने के लिए खूब जगह और बेहतर माहौल। गपशप के साथ खेलकूद का आनंद। ऑफिस में अपने पालतू जानवरों के साथ प्‍यार और मस्‍ती। कुछ दिन पहले ही खबर आई थी कि गुगल का एक कर्मचारी तो अपने पालतू सांप को ही दफ्तर ले आया जिसे बड़ी मेहनत के बाद ही ढूंढा जा सका। रसोई का भी मजा लीजिए यहां। जब जी चाहा जायकेदार खाना बनाया और खाया। कुछ कर्मचारियों ने ऑफिस को सजा लिया....अब यह तो ऐसा लगता है कि यह टॉय शॉप है या ऑफिस। लीजिए यह पेश है फन व गेम्‍स...ऑफिस है या मौज मजे की जगह। बोर हो गए तो आनंद लीजिए म्‍युजिक का। और यह है आइडिया बोर्ड...आओं और लिख डालो जो आइडिया दिमाग में आता हो। आइडिया के लिए चाहिए मुफ्त का भोजन..खाना फ्री में मिल जाए तो आइडिया भी खूब आते हैं। गुगल में है, स‍ब जगह फ्री फूड...क्‍या यह सुपर मार्केट जैसा है। हां, तो मजे से खाने के लिए पेश हैं चाकलेट ही चाकलेट....। आखिर में लांड्री...। अब आप ही बताएं जब दफ्तर ऐसा हो तो घर कौन जाएगा........दफ्तर में ही घर नहीं बसा लेगा। सभी फोटो:उमेश आर्य के सौजन्‍य से।

3 comments:

ANURAAG MUSKAAN said...

क्या झक्कास ऑफिस दिखाएला बाप... अपुन का तो कल से अपने ऑफिस जाने का इच दिल नई कर रेला है... ए कमल भाई अपना वास्ते गॉड से प्रे करने का... क्या है न कि अपुन भी अइसे इच मस्त ऑफिस में जाने का ड्रीम देखता है...

Udan Tashtari said...

कमल भाई,

इसका विडियो भी यू ट्यूब पर है, बड़ा मस्त है. सर्च मारियेगा. इस साल का Best Workplace का अवार्ड सही ही मिला है इनको. :)

Akhlaq said...

कमल जी, ये गूगल वाले ग़रीब देश के भोले कर्मचारियों को बहकाने का काम कर रहे हैं..